कभी सोचा न था तेरी मोहब्बत में

preet_singh

a¯n¯i¯m¯a¯l¯_¯l¯o¯v¯e¯r¯
कभी सोचा न था तेरी मोहब्बत में ये दिन भी आयेगा :an
गड्डी हो जाएगी पंचर और आशिक धक्का लगाएगा:pop
हर आशिकं का यही हाल देर सबेर होता है
अपनी महबूबा को वो पिट्ठू बनकर ढोता है :par
तुझे रानी बना कर रखने का वादा जो किया था
मैं ऐसा आशिक हूँ जो गड्डी पर तो क्या तुझे कन्धों पर भी बिठाएगा :so
 
Thread starter Similar threads Forum Replies Date
jassmehra न वफ़ा का ज़िक्र होगा Funny Poetry 2
Top