अब 14 घंटे में होगा दिल्ली-कोलकाता का सफर: त्र

preet_singh

a¯n¯i¯m¯a¯l¯_¯l¯o¯v¯e¯r¯


नई दिल्ली। आज रेल बजट पेश करते हुए रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि रेलवे के लिए नेशनल पॉलिसी बनाने की जरूरत है।उन्होंने कहा कि और डबल डेकर ट्रेनें चलाई जाएंगी और उनकी संख्या बढ़ाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली से कोलकाता के बीच की दूरी 14 घंटा में पूरा होगा।
160 किलोमीटर प्रति घंटा के रफ्तार और इससे तेज रफ्तार में दौड़ने वाली ट्रेनें चलाने के लिए पटरियों और पुलों को आधुनिक बनाया जाएगा। नई दिल्ली और कोलकाता के बीच का सफर अब 17 के बजाए सिर्फ 14 घंटे में पूरा हो जाएगा। भारतीय रेल स्टेशन विकास निगम की स्थापना होगी जो एयरपोर्ट की तर्ज पर स्टेशनों का विकास करेगा

उन्होंने कहा कि इन स्टेशनों से रेलवे को कमाई भी होगी और इसमें पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप होगी ताकि रेलवे पर सीधे पैसे का बोझ न पड़े। लाजिस्टिक कार्पोरेशन बनाकर माल ढुलाई को आधुनिक बनाया जाएगा। राष्ट्रीय़ परियोजनाओं के लिए आंतरिक संसाधनों से पैसा जुटाया जाएगा। रेल संरक्षा कोष से भी पैसा निकालकर रेलवे की सुरक्षा और संरक्षा पर खर्च किया जाएगा।
उन्होंने पूर्व रेल मंत्री ममता बनर्जी का नाम लेते हुए कहा कि रेल सुरक्षा की नीति ममता बनर्जी ने बनाई थी और उस पर काम जारी है। रेलवे के पास बहुत सारी लंबित योजनाएं हैं। हमारे पास पर्याप्त मात्रा में पैसा नहीं है इसलिए कई योजनाएं समय से पूरी नहीं हो पा रहा है। मेरा सदन से अनुरोध है कि भारतीय रेल को पैसा मुहैया कराया जाए। मेरा बजट संरक्षा, सुरक्षा और लाइनों पर बोझ कम करना है। इसके अलावा आधुनिकीकरण पर हमारा जोर रहेगा। हमारी कोशिश होगी की खर्च में कटौती कर नया वित्तीय मॉडल बनाया जाए।
लंबे समय की योजनाएं बनाने पर हमारा जोर है और हम विजन 2020 के तहत अपनी योजनाओं पर काम कर रहे हैं। मैंने सभी संसद सदस्यों सो रेलवे के वारे में चर्चा की। मैं पिछले आठ महीनों से काम कर रहा हूं और मुझे पांच हजार से ज्यादा रिक्वेस्ट मिलीं, इनमें से ज्यादातर रिक्वेस्ट नई लाइनों के लिए थीं। मैंने सभी अनुरोधों को पूरा करने की कोशिश की है।
 
Top