Punjab News मुस्लिम बालक बना हनुमान का अवतार

jassmehra

(---: JaSs MeHrA :---)
मुस्लिम बालक बना हनुमान का अवतार, घर में लगती है श्रद्धालुओं की भीड़​








जाब के जिला फतेहगढ़ साहिब के नबीपुर गांव में चौदह वर्षीय मुस्लिम बालक अरशद अली हिंदुओं की आस्था का केंद्र बना हुआ है। मुस्लिम परिवार में जन्मे इस बच्चे को गांव के लोग हनुमान का अवतार मानते हैं। दरअसल इस बच्चे की जन्म से सात इंच की पूंछ है।

अरशद में हनुमान जैसे 9 ईश्वरीय चिह्न
बड़ी संख्या में लोग इस बच्चे के दर्शन के लिए आते हैं। इस बच्चे की पीठ के नीचे का हिस्सा बाहर निकला हुआ है, जिसे लोग पूंछ बता रहे हैं। हालांकि, मेडिकल एक्सपर्ट्स के मुताबिक बच्चे की पूंछ एक शारीरिक विकृति है, जबकि स्थानीय लोग इसे ईश्वरीय गुण मानते हैं।
उनका कहना है कि इस बच्चे में पूंछ के अलावा हनुमानजी जैसी और भी कई समानताएं हैं। अरशद के नानाजी इकबाल कुरैशी कहते हैं- अरशद में हनुमान जैसे 9 ईश्वरीय चिह्न हैं। पूंछ के अलावा उसके पैर पर पदम चिह्न और बाएं हाथ पर सीता और कड़ा के चिह्न हैं। वह लोगों के लिए बेहद खास है।

घर बना मंदिर, अब चढ़ता है चढ़ावा
अली का जन्म 15 फरवरी, 2001 को हुआ था। जैसे ही पूंछ वाले बच्चे के जन्म की खबर फैली, दूर-दूर से लोग उसके दर्शन के लिए उमड़ना शुरू हो गए। लोगों ने उसके घर में आकर प्रार्थनाएं करनी शुरू कर दीं और चढ़ावा चढ़ाया। तब से उसका घर मंदिर जैसा बन गया है, जहां श्रद्धालु उसकी एक झलक पाने के लिए लंबी-लंबी कतारों में अपना नंबर आने का इंतजार करते हैं।

लोगों को आशीर्वाद देता है अरशद
साधुगढ़ के एक सरकारी स्कूल में 9 वीं कक्षा में पढऩे वाला अली अपने नाना के साथ रहता है। उसके पिता राज मोहम्मद मजदूर थे, जो 5 साल पहले ही चल बसे। मां सलमा ने दूसरी शादी की और अब अपने पति के साथ रहती है।

कुरैशी कहते हैं हम लोगों से दान देने के लिए नहीं कहते, जो कुछ भी वह देते हैं, हम ले लेते हैं। दर्शन के लिए आए लोगों को अरशद आशीर्वाद दे देता है। हालांकि, इस पूंछ की वजह से अली को चलने-फिरने में काफी परेशानी होती है। 5 साल पहले चंडीगढ़ के कई अस्पतालों में दिखाए जाने के बाद भी उसे इस पूंछ से छुटकारा नहीं मिला।
 
Top