कश्मीर में सेना को बड़ी कामयाबी, मुठभेड़ म&#23

कश्मीर में सेना को बड़ी कामयाबी, मुठभेड़ में लश्कर कमांडर सहित दो आतंकी ढेर



जम्मू एवं कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ अभियान में सुरक्षा बलों को एक बार फिर से बड़ी कामयाबी मिली है. पुलवामा में सुरक्षा बलों ने खूंखार आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर वसीम अहमद शाह और आतंकी निसार अहमद मीर को मार गिराया. आतंकियों के मारे जाने के बाद स्थानीय लोगों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया. इस दौरान सुरक्षा बलों के साथ झड़प में एक व्यक्ति की मौत हो गई और तीन लोग घायल हो गए. इस घटना के बाद इलाके में इंटरनेट और मोबाइल सेवा बंद कर दी गई है.
एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने पुलवामा के लित्तर इलाके मे आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सुबह ऑपरेशन चलाया. उन्होंने बताया कि आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोली चलाई, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई की. अधिकारी के अनुसार, मारे गए दूसरे आतंकवादी की पहचान निसार अहमद मीर के तौर पर हुई है.

इस मुठभेड़ के बाद राज्य के डीजीपी एसपी वैद्य ने कहा, 'वसीम शाह आतंकियों की भर्ती किया करता था, उसका खात्मा बड़ी सफलता है.' वसीम शाह को A++ श्रेणी का आतंकी बताया जाता है. आतंकियों के पास से एक AK-47 राइफल, एक AK-56 और 6 मैगजीन बरामद की गई हैं.
इस एनकाउंटर के बाद स्थानीय लोगों की सुरक्षाबलों के साथ झड़प हो गई, जिसमें गोली लगने से चार लोग घायल हो गए. घायलों को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया है, जहां एक घायल ने दम तोड़ दिया. मृतक की पहचान गुलजार अहमद के रूप में हुई है. वह पुलवामा के लस्सीपुरा का रहने वाला था. वहीं, इस घटना के बाद अधिकारियों ने इलाके में इंटरनेट और मोबाइल सेवा बंद करने का फैसला लिया है.
इससे पहले बुधवार को जम्मू-कश्मीर के बांदीपुरा जिले में हुए मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को मार गिराया था. इस मुठभेड़ में वायुसेना के दो गरुड़ कमांडो भी शहीद हो गए थे. यह पहली बार था, जब घाटी में आतंकियों के खिलाफ अभियान में वायुसेना के दो गरुण कमांडो शहीद हुए थे. सेना के एक अधिकारी के मुताबिक आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने बांदीपुरा जिले के हाजिन इलाके में घेराबंदी और तलाशी अभियान चलाया था.
इससे अलावा दो अक्टूबर को जम्मू एवं कश्मीर के श्रीनगर में हवाईअड्डे के नज़दीक गोगो हुमहमा इलाके के BSF कैंप पर आतंकियों ने हमला किया था. BSF की 182वीं बटालियन पर हुए इस हमले में सेना ने तीन आतंकियों को मार गिराया था. इस हमले में एक ASI शहीद हो गया था, जबकि तीन जवान घायल हो गए थे. मालूम हो कि सेना कश्मीर से आतंकियों का सफाया करने के लिए 'ऑपरेशन ऑलआउट' चला रही है.
इसके तहत आतंकियों की एक लिस्ट तैयार की गई है, जिसके आधार पर अलग-अलग इलाकों में आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है और कार्रवाई की जा रही है. अब तक इस ऑपरेशन के तहत कई आतंकियों को घाटी में ढेर किया जा चुका है.
 
Top