आतंकी मेमन को 30 को सुबह 4 बजे दी जाएगी फांसी

Miss Alone

Prime VIP


1993 के मुंबई धमाकों के आरोपी याकूब मेमन की फांसी अब तय है. सुप्रीम कोर्ट द्वारा मेमन की क्यूरेटिव पिटीशन खारिज कर देने के बाद नागपुर जेल में उसे फांसी दिए जाने की तैयारी पूरी की जा रही है. 30 जुलाई को सुबह 4 बजे उसकी फांसी की सजा पर अमल किया जाना है.

जेल प्रशासन की तैयारियां
सूत्रों के मुताबिक 30 जुलाई को तड़के मेमन को 3 बजे जगाया जाएगा और उसके 10 मिनट बाद उसे नहाने की सुविधा दी जाएगी. इसके बाद एसपी, डीएसपी, एक्जेक्यूटिव मजिस्ट्रेट और मेडिकल ऑफिसर उसके सेल में जाएंगे और उसकी पहचान कर वारंट को उसकी मातृभाषा में सुनाया जाएगा .

आखिरी नाश्ते की तैयारी
जेल प्रशासन द्वारा उसे सुबह 3.20 पर नाश्ता दिया जाएगा. इस आखिरी नाश्ते की तैयारी उससे विचार-विमर्श कर पूरी की जाएगी.

अधिकारियों की टीम
याकूब की सजा पर अमल के लिए तकरीबन 10 सदस्यों की एक टीम बनाई गई है . जिसमें जेल अधिकारी, मेडिकल ऑफिसर, एक जल्लाद को शामिल किया गया है. इस मौके पर जिला मजिस्ट्रेट द्वारा नियुक्त एक कार्यकारी मजिस्ट्रेट भी उपस्थित रहेंगे जो वारंट पर साइन करेंगे.

जन्मदिन के दिन फांसी
यह अजब इत्तेफाक है कि 30 जुलाई को जिस दिन उसे फांसी दी जाएगी, उसी दिन उसका जन्मदिन भी है. 12 मार्च 1993 को मुंबई में किए गए सिलसिलेवार बम धमाकों में 257 लोगों की मौत हुई थी और 713 घायल हुए थे. इस मामले में 2007 में विशेष टाडा कोर्ट ने याकूब समेत 10 अन्य दोषियों को मौत की सजा सुनाई थी. इस हमले के मुख्य आरोपी टाइगर मेमन के भाई याकूब मेमन पर इन हमलों के लिए वित्तीय जिम्मा संभालने का दोषी पाया गया था.​
 
Top