UNP

चली हवा नशीली

हमारी बराबरी तु क्या करेगी छोरी , हम वो हैं जो कुलर में पानी नहीं RUm डाल के चलातें हैं । ???????????????????????????? चली हवा नशीली ।.....


X
Quick Register
User Name:
Email:
Human Verification


Go Back   UNP > Poetry > Punjabi Poetry > Funny Poetry

UNP

Register

  Views: 1711
Old 19-05-2016
avi-jaat
 
चली हवा नशीली

हमारी बराबरी तु क्या करेगी छोरी ,

हम वो हैं जो कुलर में पानी नहीं RUm डाल के चलातें हैं ।
????????????????????????????

चली हवा नशीली ।

 
Old 30-09-2016
[PaURwaL]
 
Re: चली हवा नशीली



Reply
« J ni AAyA pAsAnd tenu sAAth merA... | Breathe »

Similar Threads for : चली हवा नशीली
हद-ए-शहर से निकली तो गाँव गाँव चली
आज मचली हुई सावन की घटा लगती हो
सच बोलने लगा तो वकालत नहीं चली........
नक्सली हमलें में 26 सीआरपीएफ जवान शहीद
Punjab News गली-गली विच्च् ‘शराब दी सेवा’

Contact Us - DMCA - Privacy - Top
UNP